उत्तरप्रदेश

शिक्षक संघ ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में डयूटी देने वाले सैकड़ों कर्मचारियों की कोरोना से मौत होने का दावा किया, 2 मई को होने वाली पंचायत चुनाव की मतगणना को टालने की मांग

4th पिलर न्यूज,लखनऊ
यूपी में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में डयूटी देने वाले सैकड़ों कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। एक शिक्षक संगठन ने इस बात का दावा किया है। जिसमें उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने चुनाव आयोग से 2 मई को पंचायती चुनाव की मतगणना को टालने की मांग की है। संगठन का दावा है कि यूपी में त्रिस्रतीय पंचायत चुनाव में डयूटी देने वाले 700 से अधिक कर्मचारियों की कोरोना से मौत हो गई है। शिक्षक संघ की मांग है कि यूपी में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पंचायत चुनाव की मतगणना स्थगित की जाए। वहीं, उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के इस दावे के बाद पूरे प्रदेश में सियासत गरमा गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर पीड़ित परिवार को 50 लाख के मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग कर दी है। पंचायत चुनाव में ड्यूटी लगाने पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, “यूपी पंचायत चुनावों की ड्यूटी में लगे लगभग 500 शिक्षकों की मृत्यु की खबर दुखद और डरावनी है। चुनाव ड्यूटी करने वालों की सुरक्षा का प्रबंध लचर था तो उनको क्यों भेजा? सभी शिक्षकों के परिवारों को 50 लाख रु मुआवाजा व आश्रितों को नौकरी की माँग का मैं पुरजोर समर्थन करती हूं। शिक्षक संघ का दावा है कि कोरोना की वजह से उन जिलों में अधिक शिक्षकों की मौत हुई है, जहां पंचायत चुनाव हो चुका है. उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ का कहना है कि मौत के मुंह में समाने वाले अधिकतर शिक्षक पंचायत चुनाव ड्यूटी के बाद संक्रमित हुए। संघ की ओर से सोमवार को कोरोना के शिकार हुए 700 से अधिक शिक्षकों के नाम का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजा गया है। इस पत्र में लखनऊ मंडल में ही 115 की मौत होने की बात कही गई है। संघ ने स्पष्ट किया है कि जिन परिस्थितियों में मतदान संपन्न हुए हैं, मतदान में कोविड-19 का पालन न होने से हजारों शिक्षक और कर्मचारी संक्रमित हुए। यहां तक कि बाद में भारी संख्या में शिक्षकों एवं कर्मचारियों की मृत्यु भी हो गई। कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति में मतगणना कराया जाना उचित नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close