उत्तरप्रदेशदिल्ली

लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और प्रयागराज के बाद गाजियाबाद में भी नाइट कर्फ्यू लागू, डीएम ने स्वास्थ्य विभाग व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक में लिया निर्णय

4th पिलर न्यूज,लखनऊ
तेजी से पांव पसार रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और प्रयागराज में गुरुवार से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसी क्रम में गाजियाबाद प्रशासन ने भी रात के समय कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। डीएम अजय शंकर पांडेय का कहना है कि रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू  लागू रहेगा। फिलहाल, जिले में 17अप्रैल तक रात्रि में कर्फ्यू  लागू रहेगा। इसके बाद आगे की रणनीति तैयार जाएगी। डीएम का कहना है कि बिना मास्क घूमने वाले लोगों का चालान कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग व फेस मास्क का पालन करने के लिए कहा है।

दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सर्वाधिक प्रभावित जिलों की समीक्षा करते हुए कहा कि जहां 500 से अधिक संक्रमित हैं और रोज 100 नए मरीज मिले रहे हैं, वहां डीएम रात का कर्फ्यू लगा सकते हैं। स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी का फैसला भी डीएम ही करेंगे। जरूरी सेवाओं को इससे राहत मिलेगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग से समीक्षा करते हुए सीएम ने कहा कि अधिक प्रभावित जिलों में रात का आवागमन रोका जाए। मास्क न लगाने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति में जरूरी सामग्री जैसे दवा, अनाज आदि की आपूर्ति को बाधित न किया जाए।
प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर का दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अधिकारियों के साथ कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित 13 जिलों की वीडियो कांफ्रेंसिंग से समीक्षा की। योगी ने कहा कि वह जल्द ही कोविड-19 संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर जिलों का निरीक्षण करेंगे। उन्होंने अन्य प्रभावित जिलों में चिकित्सा स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्रियों को अधिकारियों के साथ दौरा करने के निर्देश भी दिए। इन सभी प्रभावित जिलों में निगरानी के लिए तत्काल विशेष सचिव स्तर के अधिकारियों की तैनाती करने के लिए कहा है। वहीं, कोविड संक्रमण का पता लगाने के लिए कुल कोविड टेस्ट में कम से कम 50 प्रतिशत टेस्ट प्रतिदिन आरटीपीसीआर विधि से करने को कहा है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस अड्डों पर रैपिड एंटीजन टेस्ट की व्यवस्था को और बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। अगले कुछ दिनों में महाराष्ट्र आदि प्रदेशों से विशेष ट्रेन भी संचालित होगी। ऐसे में गोरखपुर, गोंडा, बस्ती व आसपास के क्षेत्रों में खास सतर्कता बरतने की जरूरत है। सभी सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों की एंबुलेंस को कोविड मरीजों के उपयोग में लाया जाए। इन एंबुलेंस को इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से जोड़ा जाए ताकि मरीजों को तत्काल रिस्पांस मिले। उन्होंने सभी जिलों में पीपीई किट, पल्स ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, सेनेटाइजर, एंटीजन किट सहित सभी व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close