उत्तरप्रदेशनोएडा/ग्रेटर नोएडा

जलपुरा गांव की गौशाला में बिना इलाज व भूख से मर गई दर्जनों गायें, नोएडा अथॉरिटी व पशु चिकित्सा विभाग में मचा हड़कंप

4th पिलर न्यूज,नोएडा
एक बार फिर गौशाला में गायों की मौत का मामला सामने आया है। गायों की मौत का यह नया मामला ग्रेटर नोएडा से जुड़ा है। अथॉरिटी जलपुरा गांव में एक गौशाला का संचालन करती है। बीते दिनों गौशाला में करीब एक दर्जन गायों की मौत हो गई है। ओडिशा के एक सांसद जब गौशाला पहुंचे तो गायों की मौत का मामला सामने आया। सांसद का आरोप है कि गायों की मौत की वजह भूख, इलाज न मिलना और लापरवाही है। गायों की मौत की जानकारी सामने आते ही जिला प्रशासन, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और पशु चिकित्सा विभाग में हड़कंप मच गया है। जलपुरा गांव की इस गौशाला में गायों के मरने का यह कोई पहला मामला नहीं है। बीते साल सितम्बर में भी इस गौशाला में करीब आधा दर्जन गायों की मौत हो गई थी। हालांकि, उस वक्त गायों की मौत की वजह भूख न होकर कुछ और ही सामने आई थी।
गौशाला आए थे सांसद अनुभव मोहंती
ओडिशा में बीजू जनता दल के सांसद अनुभव मोहंती गौशाला गए थे। चर्चा यह है कि किसी तरह सांसद को गौशाला में गायों के मरने की जानकारी हो गई थी। इसके बाद भी वो गौशाला गए थे। गौशाला के हालात देखने के बाद सांसद ने एक ट्वीट किया है। जिसमें ट्वीट के साथ उन्होंने मरी हुई गायों की फोटो भी शेयर की है। साथ ही उन्होंने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और सीएम योगी आदित्यनाथ को ट्वीट करते हुए गौशाला के हालात को संभालने का आग्रह किया है। हालांकि, इस ट्वीट के बाद सांसद को अभी इस बारे में दोनों तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है। वहीं, गौशाला में गायों के मरने की सूचना मिलने के बाद पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टरों की टीम भी गौशाला पहुंच गई। गायों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया। सूत्रों ने बताया कि गाय अभी भी बुरी तरह बीमार और मरणासन्न हालत में हैं। ऐसी गायों का इलाज चल रहा है। आरोप यह भी लगे हैं कि गौशाला में साफ-सफाई का अच्छा इंतजाम नहीं है। गर्मी बढ़ने से हालात और खराब हो रहे हैं। हालांकि न तो ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और न ही डॉक्टरों की टीम ने अभी कोई अधिकारिक जानकारी दी है कि गायों की मौत किस वजह से हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close