उत्तरप्रदेशगाज़ियाबाद

शासकीय कार्यो में लापरवाही बरतने पर डीएम ने दो लिपिकों को किया सस्पेंड

गाजियाबाद,संवाददाता

डीएम अजय शंकर पांडेय ने शासकीय कार्यो में लापरवाही बरतने पर वरिष्ठ सहायक (सीलिंग/मुख्य लिपिक) प्रवीण त्यागी एवं लिपिक (सीलिंग) बिजेंद्र कुमार को सस्पेंड कर दिया । दोनों कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय जांच का जिम्मा उप-जिलाधिकारी (सदर) को सौंपा गया है। ब्लैक बॉक्स में प्राप्त शिकायत की जांच कराने पर यह कार्रवाई की गई है। ब्लैक बॉक्स में सीलिंग से संबंधित शिकायत पत्र मिला था। इस प्रकरण की जांच अपर जिलाधिकारी (नगर)/प्रभारी अधिकारी सीलिंग को सौंपी गई। एडीएम ने जांच आख्या में अवगत कराया कि सीलिंग अपील संख्या-16 जनवरी 2017 उप्र सरकार बनाम सत्यवती प्रकरण में सीलिंग अधिनियम के तहत वाद दर्ज किया गया था, जिसमें न्यायालय नियत प्राधिकारी (सीलिंग) गाजियाबाद द्वारा सभी वादों में सम्मिलित उपरोक्तानुसार वर्णित ग्रामों की संबंधित भूमि को सर-प्लस/अतिरिक्त/सीलिंग भूमि घोषित किया गया। बाद में यह प्रकरण उच्चतम न्यायालय नई दिल्ली तक पहुंचा। इस मामले में स्थगन प्राप्त करने को राज्य सरकार की ओर से निर्धारित अवधि में एसएलपी योजित की जानी थी, मगर ऐसा नहीं किया गया। प्रकरण को दबाने की कोशिश की गई। ऐसे में वरिष्ठ सहायक (सीलिंग/मुख्य लिपिक) प्रवीण त्यागी एवं लिपिक (सीलिंग) बिजेंद्र कुमार की लापरवाही सामने आने पर दोनों को निलंबित कर दिया गया है। एसडीएम (सदर) को दोनों के विरूद्ध विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। जिलाधिकारी का कहना है कि यदि यह कृत्य किसी अपराधिक षडयंत्र से प्रेरित मिलता है तो दोनों कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close