उत्तरप्रदेशगाज़ियाबाद

रोडवेज बसों में भी मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत, बसों के प्रस्थान से पहले महिलाओं के सम्मान में चालक पढ़ेंगे संदेश पत्र

गाजियाबाद, संवाददाता
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा एवं स्वावलंबन के लिए रोडवेज बसों में भी मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत कर दी गई है। यात्रा के दौरान रोडवेज बसों में महिलाओं व बालिकाओं को पूरा सम्मान दिया जाएगा। डिपो के चालक व परिचालक महिलाओं से मधुर भाषा में बातचीत करेंगे और सीट न उपलब्ध होने पर महिलाओं को सीट की व्यवस्था भी करनी होगी। यहीं नहीं डिपो से बस के प्रस्थान से पूर्व महिलाओं के सम्मान में एक सदेंश पत्र भी पढ़कर सुनाया जा रहा है।
उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम गाजियाबाद के क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह ने बताया कि रोडवेज बसों में 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक मिशन शक्ति के अंतर्गत महिलाओं के सम्मान के लिए विशेष अभियान शुरू कर दिया गया है। अभियान के अंतर्गत रोडवेज बस में सफर करने वाली महिलाओं व बालिकाओं को पूरा सम्मान दिया जाएगा। सरकार के मिशन के अंतर्गत स्टेशनों व रोडवेज बसों में पम्फलेट व पोस्टर लगाकर महिलाओं के सम्मान के लिए प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

बसों की एलसीडी पर चलेगी मिशन शक्ति की वीडियो

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की जिन बसों में एलसीडी लगी है उनमें मिशन शक्ति अभियान की वीडियो और क्लिपिंग चलाकर महिलाओं के सम्मान में लोगों को जागरूक किया जाएगा। मिशन शक्ति अभियान का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाएगा। एनजीओ और नुक्कड़ नाटक से भी मिशन शक्ति का प्रचार किया जाएगा। डिपो के भीतर लगी एलसीडी पर भी अभियान की वीडियो दिखाई जाएगी।
महिलाओं के सम्मान में दामिनी हेल्पलाइन शुरू
रोडवेज बसों में महिलाओं के सम्मान के लिए दामिनी हेल्पलाइन नंबर-8114277777 शुरू किया गया है। जिसमें महिलाओं से संबंधी शिकायत और सुझाव भेज सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर से भी योजना का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। क्षेत्रीय प्रबंधक ने बताया कि नुक्कड़ नाटक से भी योजना के बारे में लोगों को बताया जाएगा।
एनजीओ देंगे ऑनलाइन प्रशिक्षण
मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत 22 अक्टूबर को गाजियाबाद क्षेत्र के डिपो खुर्जा, बुलंदशहर, सिकंद्राबाद, हापुड़, लोनी, साहिबाबाद व कौशांबी में मानस फाउंडेशन नोएडा की ओर से ऑनलाइन वर्चुअल प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसमें डिपो के चालक-परिचालक और अन्य कर्मियों को महिलाओं व बालिकाओं से मधुर एवं सम्मानजनक व्यवहार और सहायता करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close