गाज़ियाबाद

पॉवर कॉरपोरेशन के जेई पर भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज:गाजियाबाद में जेई ने आय से 78 गुना ज्यादा खर्चे किए, शासन के आदेश पर हुई मेरठ के विजिलेंस थाने में एफआईआर

4th पिलर न्यूज,गाजियाबाद
पॉवर कॉरपोरेशन गाजियाबाद के जेई सुभाष चंद्र यादव के खिलाफ उप्र सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) के मेरठ थाने में केस दर्ज हुआ है। जेई पर आय से अधिक संपत्ति का आरोप है। इस मामले में केस दर्ज कर विस्तृत जांच शुरू कर दी गई है। विद्युत नगरीय वितरण मंडल (द्वितीय) गाजियाबाद के अवर अभियंता सुभाष चंद्र यादव के के खिलाफ शासन ने 29 अप्रैल 2019 को विजिलेंस की खुली जांच के आदेश दिए थे। जांच रिपोर्ट के अनुसार, मूल रूप से जौनपुर निवासी जेई सुभाष चंद्र गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन की हिमालय तनिष्क रेजिडेंसी में रहते हैं। जांच के लिए निर्धारित अवधि में उन्हें समस्त वैद्य स्त्रोतों से 58 लाख 28 हजार 646 रुपये की आय हुई। आय के सापेक्ष चल-अचल संपत्तियों और पारिवारिक भरण-पोषण पर जेई ने 1 करोड़ 3 लाख 86604 रुपये खर्च किए। विजिलेंस की खुली जांच के अनुसार, जेई सुभाष चंद्र ने अपनी आय के सापेक्ष 78 फीसदी ज्यादा खर्च किया।
नोटिस का ठोस जवाब नहीं दे सके जेई
विजिलेंस ने इस बाबत जेई को नोटिस देकर उनसे स्पष्टीकरण मांगा, लेकिन वे ठोस जवाब नहीं दे पाए। खुली जांच की रिपोर्ट शासन को भेजी गई। शासन से हरी झंडी मिलने के बाद विजिलेंस इंस्पेक्टर मंजू गुप्ता ने 7 अगस्त को पॉवर कॉरपोरेशन के जेई सुभाष चंद्र यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में मेरठ के विजिलेंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। केस की जांच इंस्पेक्टर सतेंद्र सिंह को सौंपी गई है। विजिलेंस अफसरों ने एफआईआर के बाबत पॉवर कॉरपोरेशन गाजियाबाद के चीफ इंजीनियर समेत अन्य अफसरों को सूचित कर दिया है।

Related Articles

Close